कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, को-एड में ‘कैंब्रिज पर्ल्स’- किंडरगार्टन विंग का शुभारम्भ

कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, को-एड में ‘कैंब्रिज पर्ल्स’- किंडरगार्टन विंग का शुभारम्भ

( JALANDHAR DARPAN )

कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, को-एड में ‘कैंब्रिज पर्ल्स’- किंडरगार्टन विंग का शुभारम्


2 दिसम्बर, 2019
स्कूली शिक्षा सभी के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है सम्पूर्ण शिक्षा प्रणाली को प्राथमिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा और उच्च शिक्षा तीन भागों में बाँटा गया है शिक्षा के सभी स्तरों का अपना एक विशेष महत्व है परंतु प्राथमिक शिक्षा ही उच्च शिक्षा को आधार प्रदान करती है इसमें शिशुओं को खेल- खेल में शिक्षा दी जाती है अच्छी शिक्षा जीवन में बहुत से उद्देश्यों को पूरा करती है यह हम में आत्मविश्वास विकसित करने के साथ ही हमारे व्यक्तित्व निर्माण में भी सहायक है
इसी बात को ध्यान में रखते हुए कैंब्रिज इंटरनेशनल स्कूल, को-एड द्वारा 2 दिसम्बर, 2019 को ‘कैंब्रिज पर्ल्स’ के नाम से किंडरगार्टन विंग का शुभारम्भ हुआ जिसमें प्री- नर्सरी, नर्सरी, के. जी- 1, के. जी.-2 कक्षाएँ शामिल हैं। प्री- नर्सरी कक्षा में 2 से 3 वर्ष आयु वर्ग तक के शिशुओं के लिए विशेष प्रबंध है किंडरगार्टन में 3 से 5 वर्ष आयु वर्ग तक के शिशुओं को दाखिला दिया जाता है ‘कैंब्रिज पर्ल्स’ का मुख्य उदेश्य है कि नन्हे- मुन्ने बच्चे बिना किसी तनाव के खेल- खेल में सीख सकें व बिल्कुल घर जैसे प्यार- दुलार के परिवेश में अगली कक्षा की पढ़ाई के लिए मानसिक व शारीरिक रूप से तैयार हो सकें इसके लिए बच्चों के बाल सुलभ मन को ध्यान में रखते हुए मनोरंजक गतिविधियाँ शामिल की गई हैं। इस विंग में प्री- नर्सरी, नर्सरी, के.जी.- 1 व के.जी.- 2 के नन्हें विद्यार्थियों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए पाठ्यक्रम तैयार किया गया है, जिसमें न केवल अध्यापक व विद्यार्थी बल्कि उनके अभिभावक भी शामिल किए जाते हैं। समय-समय पर ऐसी कई गतिविधियाँ व प्रतियोगिताएँ आयोजित होंगी, जिनसे अभिभावक अपने बच्चों की उत्कृष्टता का स्वयं शामिल होकर आकलन कर सकेंगे। बच्चों की संपूर्ण शिक्षा का आधार ऐसा रखा गया है जिससे बच्चे आत्मविश्वास पूर्ण बने व भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहेंगे पाठ्यक्रम का निर्माण नन्हें विद्यार्थियों के सर्वपक्षीय विकास को ध्यान में रख कर किया गया है विद्यार्थियों में तकनीकी ज्ञान में वृद्धि के लिए स्मार्ट क्लासेज़ का प्रबंध किया गया है। पाठ्यक्रम में ऐसी गतिविधियों को शामिल किया गया है जिससे विद्यार्थियों में अनुशासन, नियमितता, समय प्रबंधन, मानवता की सेवा जैसे नैतिक मूल्यों का संचार किया जा सके तथा वे अच्छे नागरिक बनें
इस अवसर पर चेयरमैन श्री नितिन कोहली, वाइस चेयरमैन श्री दीपक भाटिया, प्रैजीडेंट श्रीमती पूजा भाटिया, वाइस प्रैजीडेंट श्री पार्थ भाटिया, एडमिनिस्ट्रेशन डायरेक्टर श्री रोहित खोसला व स्कूल डायरेक्टर व प्रिंसिपल डॉ०(श्रीमती) रविंद्र माहल जी उपस्थित रहीं अंत में स्कूल की डायरेक्टर व प्रिंसिपल डॉ०(श्रीमती) रविंद्र माहल जी ने कहा कि स्कूल प्रबंधन हर संभव प्रयास द्वारा अभिभावकों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए दृढ़ संकल्प रहेगा।

Related posts

Leave a Comment